2 Line Shayari For Girls

two line attitude shayari in hindi For Girls

  • वक़्त बदलता है और कहता है…
    अब तुम वैसा नहीं ऐसा सोचो…!!
  • बहुत मुश्किल है बंजारा मिजाजी,
    सलीका चाहिये जनाब आवारगी में।

beautiful shayari image For Girls

  • जब अकेले ही काटना है मुझे जिंदगी का सफर ..
    तो दो पल साथ रहकर मेरी आदत ना खराब कर…
  • अदाकारी ज़रा सी जेब में रखकर सफ़र करना,
    अभी इस ज़िंदगी में और भी किरदार जीने हैं !!

2 line shayari attitude For Girls

  • तेरी दास्ताँ-ए- हयात को लिखूं किस गजल के नाम सा,
    तेरी शोखियाँ भी अजीब, तेरी सादगी भी कमाल…।
  • मै अपने दुश्मनों के वास्ते भी, काम आती हूँ;
    कोई इल्जाम देना हो, मुझे ही याद करते है!

hisab two lines shayari For Girls

  • ये रस्म, ये रिवाज, ये कारोबार वफ़ाओं का सब छोड़ आना तुम,
    मेरे बिखरने से जरा पहले लौट आना तुम।
  • एक अर्से के बाद हँसे,
    वो भी अपने हाल पर…!

two line shayari collections hindi For Girls

  • जिसकी किस्मत मे रोना लिखा हो..
    वो मुस्कुरा भी दे तो आँसू आ जाते हैं..
  • मेरी तमन्नाओं की दुनिया पर उदासी छा गयी,
    भूली थी कभी जो दास्ताँ आज फिर याद आ गयी।

2 line shayari in english For Girls

  • अमीरों के बच्चे बड़े होकर इश्क करते हैं.,
    और गरीब के.. मज़दूरी..!!
  • कौन कहता है मुसाफिर जख्मी नही होते
    रास्ते गवाह हैं कम्बख्त गवाही नही देते।

sad shayari image download For Girls

  • कर दे नजर-ए-करम मुझपर मैं तुझ पर एतबार कर लूँ,
    दीवाना हूं मैं तेरा ऐसा कि दीवानगी की हद पार कर लूं।
  • जिसके लफ़्ज़ों में हमे अपना अक्स मिलता है,
    बड़े नसीबों से ऐसा कोई शख़्स मिलता है।

two line shayari in punjabi For Girls

  • कौन कहता है कि हम झूठ नही बोलते,
    एक बार खैरियत तो पूछ के देखिये।
  • सो जाते हैं फूटपाथ पे अख़बार बिछा कर…
    मज़दूर कभी नींद की गोली नहीं खाते…!!

awesome two line shayari in urdu For Girls

  • यूँ तो मोहब्बत की सारी हकीक़त से वाकिफ है हम,
    पर उसे देखा तो सोचा चलो ज़िन्दगी बर्बाद कर ही…
  • हम तो कुछ भी नहीं थे क़सम से
    जो कुछ हुआ है ,किताबों का किया धरा है !!

beautiful shayari image For Girls

  • Wo Din Gaye Ki Mohabbat Thi Jaan Ki Bazi,
    Kisi Se Ab Koi Bichhade To Mar Nahin Jaata.
  • तू मेरे लिये अलफाज़ों से बेवजह ही लड़ा था
    कोरा कागज जो तूने भेजा मैंने वो भी पढ़ा था……

You may also like