Aankhen Shayari Women

2 Line Shayari On Eyes In Punjabi For Women

  • सामने ना हो तो तरसती हैं आँखें,
    याद में तेरी बरसती हैं आँखें,
    मेरे लिए नहीं इनके लिए ही आ जाओ,
    आपका बेपनाह इंतज़ार करती हैं आँखें।
  • Sukun Ki Talash Me Tumhari Aankhon Me Jhaka Tha Humne,
    Kise Pata Tha Kambakht Dil Ka Dard Aur Mil Jayega.

Aankhen Shayari Gulzar For Women

  • Na Jane Kon Sa Jadu Hai Teri Bahon Me,
    Sharab Sa Nasha Hai Teri Aankhon Me,
    Teri Talash Me Tere Milne Ki Aas liye,
    Duayen Mangta Firta Hun Main Dargahon Me.
  • क्या पूछते हो शोख निगाहों का माजरा,
    दो तीर थे जो मेरे जिगर में उतर गये।
    Kya Puchhte Ho Shokh Nigahon Ka Majra,
    Do Teer The Jo Mere Jigar Mein Utar Gaye.

Aankhen Shayari Gulzar For Women

  • ना जाने कौन सा जादू है तेरी बाहों में,
    शराब सा नशा है तेरी आँखों में,
    तेरी तलाश में तेरे मिलने की आस लिए,
    दुआऐं मांगता फिरता हूँ मैं दरगाहों में।
  • समंदर में उतरता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं,
    तेरी आँखों को पड़ता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं,
    तुम्ह्रारा नाम लिखने कि इजाजत छीन गयी जब से,
    कोई भी लफ्ज़ लिखता हूँ तो आँखें भीग जाती हैं।

Aankhen Shayari 2 Line For Women

  • मिलायेंगे नजर किससे कि वो बेदीद हैं ऐसे,
    नहीं आईना में आँखें मिलाते अपनी आँखों से।
    Milayenge Najar Kis Se Ke Wo Bedeed Hain Aise,
    Nahi Aayina Mein Aankhein Milaate Apni Aankho Se.
  • चिरागों को आंखों में महफूज रखना,
    बड़ी दूर तक रात ही रात होगी,
    मुसाफिर हो तुम भी, मुसाफिर हैं हम भी,
    किसी मोड़ पर, फिर मुलाकात होगी।

Nazar Shayari 2 Line Hindi For Women

  • महफिल अजीब है ये मंज़र अजीब है,
    जो उसने चलाया वो खंजर अजीब है,
    ना डूबने देता है ना उबरने देता है,
    उसकी आँखों का वो समंदर अजीब है।
  • डूब कर तेरी झील सी गहरी आँखों में,
    एक मयकश भी शायद पीना भूल जाए।

Yu Na Dekh Mujhe Shayari For Women

  • Ai Samandar Main Tujhse Waqif Hu
    Magar Itna Batata Hu,
    Wo Aankhein Tujhse Gehri Hain
    Jinka Main Aashiq Hu.
  • Ye Kaho, Wo Kaun Si Baat Juban Tak Aate Aate Ru Gayi,
    Ye Batao, Us Baat Ki Chuppi Se Tumhari Najre Kyu Jhuk Gayi.

Akhope Shayri For Women

  • Dooba Hua Hun Na Nikal Paunga Main,
    Khoobsurat Muskurhat Aur Aankhon Se Meri.
  • आपने नज़र से नज़र जब मिला दी,
    हमारी ज़िन्दगी झूम कर मुस्कुरा दी,
    जुबान से तो हम कुछ भी न कह सके,
    पर आँखों ने दिल की कहानी सुना दी।

Tareef Shayari On Eyes For Women

  • सिर्फ आँखों को देख के कर ली उनसे मोहब्बत,
    छोड़ दिया अपने मुक़द्दर को उसके नक़ाब के पीछे।
    Sirf Aankhon Ko Dekh Ke Kar Li Unse Mohabbat,
    Chhod Diya Apne Muqaddar Ko Uske Naqaab Ke Peechhe.
  • नज़र को नज़र की खबर ना लगे,
    कोई अच्छा भी इस कदर ना लगे हमें,
    आपको देखा है बस उस नज़र से,
    जिस नज़र से आपको नज़र ना लगे।

Shayari On Beauty Of A Girl For Women

  • तमाम अल्फाज़ नाकाफी लगे मुझको,
    एक तेरी आँखों को बयां करने में।
    Tamaam Alfaz NaaKaafi Lage Mujhko,
    Ek Teri Aankhon Ko Bayaan Karne Mein.
  • डूबा हुआ हूँ ना निकल पाऊँगा मैं कभी,
    ख़ूबसूरत मुस्कुराहट और आँखों से तेरी।

Shayari On Eyes In Punjabi For Women

  • बहुत बेबाक आँखों में ताल्लुक टिक नहीं पाता,
    मोहब्बत में कशिश रखने को शर्माना जरूरी है।
    Bahut Bewaak Aankhon Mein Taalluk Tik Nahi Pata,
    Mohabbat Mein Kashish Rakhne Ko Sharmana Jaroori Hai.
  • Sharma Kar Jhuk Rahi Hain Humari Nigahen,
    Kaha Tha Na Ki Itne Kareeb Mat Aao.

You may also like