Adult Shayari For Woman

non veg attitude shayari in hindi For Woman

  • इश्क मुहब्बत क्या है मुझे नही मालूम
    बस तुम्हारी याद आती है सीधी सी बात है
  • दिमाग पर ज़ोर लगाकर गिनते हो गलतियां मेरी
    कभी दिल पर हाथ रख के पूछना कसूर किसका है

non veg birthday shayari for friend in hindi For Woman

  • हजार गम मेरी फितरत नही बदल सकते
    क्या करू मुझे आदत हे मुस्कुराने की
  • मुसीबत में अगर मदद मांगो तो सोच कर मागना क्योकि
    मुसीबत थोड़ी देर की होती है और एहसान जिंदगी भर का

Adult Shayari for friends insult hindi For Woman

  • मेरी हँसी में भी कई ग़म छुपे हैं डरता हूँ
    बताने से कहीं सबका प्यार से भरोसा न उठ जाए
  • रात में आँखों में काजल यू लगा कर सोया न करो
    तुम तो सो जाति हो बेचेन राते हुम गुजार्ते है

Adult Shayari to friend For Woman

  • मेरी तङप तो कुछ भी नही है
    सुना है उसके दिदार के लिए आईने तरसते
  • उसने पूछा की क्या पसंद है तुम्हे
    और मैं बहुत देर तक उसे देखता रहा

Adult Shayari and jokes For Woman

  • अभी हमारे हुनर का अंदाजा नहीं आपको
    हम तो उन्हें भी जीना सिखा देते हैं
    जो मरने का शौक रखते हैं
  • पैसों से बंदूके मिलती हैं हिम्मत और जिगर नहीं
    जिस दिन हम से सामना होगा सारी गर्मी निकल जाएगी

Adult Shayari santa banta For Woman

  • तुझे याद कर लूँ तो मिल जाती है हर दर्द से राहत
    ऐ माँ
    लोग यूँ ही हल्ला मचाते है कि दवाइयाँ महँगी हैं
  • कितने स्वीट हो तुम मेरी सारे बातें मानते हो
    रात को ख़्वाबों में आए थे और मुस्कुराकर चले गए

Adult Shayari urdu For Woman

  • मिला है धोखा पूरा यकीं था उनके आँसुओं ने पर पैदा किया भ्रम था
    भ्रम टूटा भी तो तब फिर जीना चाहने लगे थे जब
  • बहुत रोये थे हम उस दिन जब एहसास हुआ था, खंजर लगा एक पीठ पर
    आज लहुलुहान पीठ लेकर भी चुपचाप चलते जा रहे

non veg comedy shayari in hindi For Woman

  • सूरत नहीं देखी तेरी अरसे से
    बस वो आखिरी बार का मुस्कुरा के मिलना आज भी जीने की वजह है मेरी
    Er kasz
  • छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी आरजू करना
    जिसे मोहब्बत की कद्र ना हो उसे दुआओ मे क्या मांगना

Adult Shayari in english For Woman

  • बुरे हैं ह़म तभी तो ज़ी रहे हैं
    अच्छे होते तो द़ुनिया ज़ीने नही देती
    Er kasz
  • कुछ फितरत ही अपने दौडने की थी
    नहीँ तो जहाँ ठहर जाते वही मंजिल थी

non veg love shayari for girlfriend For Woman

  • उसने हाथो से छूकर दरिया के पानी को गुलाबी कर दिया
    हमारी बात तो और थी उसने मछलियो को भी शराबी कर दिया
  • उसने देखा ही नही अपनी हतेली को गोर से कभी
    उसमे धुंदली सी एक लकीर मेरे नाम की थी

You may also like