Adult Shayari For

Adult Shayari Adult Shayari in hindi For

  • औकात की बात मत कर पगली जितनी तेरे बाप की एक महीने की सैलेरी है ना
    उतनी तो मेरी नौकरानी की एक दिन की टिप है
    सैलेरी की तो बात ही छोड़
  • अपनों से करके किनारा राह के मुसाफिरों को अपना कहने वाला
    मुड़ के आएगा जिस दिन बिखर चुका होगा तेरे अपनों का मेला

non veg love shayari for girlfriend For

  • मेरी तङप तो कुछ भी नही है
    सुना है उसके दिदार के लिए आईने तरसते
  • पुरानी होकर भी खास होती जा रही है
    मोहब्बत बेशरम है बेहिसाब होती जा रही है
    er kasz

Adult Shayari hindi in english For

  • हमारे Facebook की बात मतकर पगली
    हमारे Online होने का इंतजार नौ मुल्को की लङकियाँ करती है
  • दूर दूर रह कर भी हम कितने करीब हैं
    हमारा रिश्ता भी जाने कितना अजीब है
    बिन देखे ही तेरा यूँ मोहब्बत करना मुझसे
    बस तेरी यही चाहत ही तो मेरा नसीब है
    पर जिसे प्यार ही ना मिला हो किसी का
    वो बदकिस्मत भी यहाँ कितना गरीब है
    और जिसे मिल गया हो तेरे जैसा यार यहाँ
    वो शख्स भी मेरे जैसा ही खुशनसीब है

Adult Shayari hindi gali For

  • Fashionable बनने के लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है
    ये काम आप my को mah you को uh और is को iz लिखकर भी कर सकते है
  • मुझे ढूंढने की कोशिश न किया कर पगली
    तूने रास्ता बदला मैंने मंज़िल ही बदल दी
    er kasz

non veg short shayari in hindi For

  • कुछ तो बात होगी मेरे शायरी के अल्फाज़ो में
    यूँही तो नहीं दुनियां मेरी शायरी को अपने स्टेटस लगाती है
  • सिलवटें ही सिलवटें थी बिस्तर पर सुबह
    यादों की करवटें ही करवटें थी रात भर

Adult Shayari collection For

  • बस तू मेरी आवाज़ से आवाज़ मिला दे
    फिर देख कि इस शहर में क्या हो नहीं सकता
  • है कोई मुझे मेरे ख्वाब की, ताबीर बताने वाला
    मैने देखा है खुद की लाश पेँ खुद को रोते हुए

non veg attitude shayari For

  • पैसों से बंदूके मिलती हैं हिम्मत और जिगर नहीं
    जिस दिन हम से सामना होगा सारी गर्मी निकल जाएगी
  • बहुत रोये थे हम उस दिन जब एहसास हुआ था, खंजर लगा एक पीठ पर
    आज लहुलुहान पीठ लेकर भी चुपचाप चलते जा रहे

non veg birthday shayari for friend in hindi For

  • कोई नामुमकिन सी बात मुमकिन करके दिखा
    खुद पहचान लेगा जमाना तुझे तू भीड़ में भी अलग चल कर दिखा
  • कई रास्तों पर चलकर देखा सब जा पहुंचे उसी पड़ाव पर
    न गुजरे जो उस पड़ाव से मिल जाए तो चलूँ उस रास्ते पर

Adult Shayari 2019 For

  • कितनी मासुम सी ख़्वाहिश थी इस नादांन दिल की
    जो चाहता था कि शादी भी करूँ और ख़ुश भी रहूँ
    Er kasz
  • कमाल का ताना दिया आज किसी ने मुझे
    के लिखते तो खूब हो कभी समझा भी दिया करो

Adult Shayari with images in hindi For

  • सूनो मेरे किस्से में तुम आते हो
    मेरे हिस्से में क्यूँ नहीं आते
  • नज़र को नज़र की खबर ना लगे कोई अच्छा भी इस कदर ना लगे
    आपको देखा है बस उस नज़र से जिस नज़र से आपको नज़र ना लगे

You may also like