Aitbaar Shayari For My Love

aitbaar shayari 2 lines For My Love

  • इस ग्रुप को यूं ही बनाये रखना; दिल में यादों के चिराग जलाये रखना; बहुत प्यारा सफ़र रहा साल 2014 का; अपना साथ 2015 में भी बनाये रखना। नया साल मुबारक!
  • un logo ke saath gujara ho sakta hai jin ki tabiyat kharab ho
    unke saath gujara nahi ho sakta jinki niyat kharab ho

aitbaar shayari photo For My Love

  • अलफ़ाज़ गिरा देते हैं जज्बात की कीमत,
    हर बात को अलफ़ाज़ में तोला न करो।
  • Ek Umr Kati Do Alfaaz Main,
    Ek Aas Main… Ek Kaash Main.

aitbaar shayari in punjabi For My Love

  • Kuchh Log Pasand Karne Lage Hain Alfaaz Mere,
    Matlab Mohabbat Me Barbad Aur Bhi Huye Hain.
  • वो कहते हैं…
    कैसे बयां करे हम अपना हल-ए-दिल,
    हमने कहा बस…
    तीन अलफ़ाज़ काफी हैं प्यार का इज़हार करने के लिए।

aitbaar shayari rekhta For My Love

  • भगवान भी हैरान है कि इतनी घंटियां तो मंदिर की भी नहीं बजती जितनी WhatsApp की बजती हैं!
  • मत लगाओ बोली अपने अल्फ़ाज़ों की,
    हमने लिखना शुरू किया तो तुम नीलाम हो जाओगे।

aitbaar shayari on facebook For My Love

  • कोई भी इंसान पूरी दुनिया के लिए नहीं जीता
    बकले कुछ ख़ास लोगो के लिए जीता है
    जो इस के लिए सारी दुनिया होते है
  • सभी ग्रुप मेंबर्स को सूचित किया जाता है की ग्रुप का 2014 की पहली तिमाही (अप्रैल – जून) का ऑडिट होने वाला है। ग्रुप में कौन कौन से सदस्य एक्टिव हैं और किस सदस्य ने क्या क्या पोस्ट किया है इसका कड़ाई से आकलन किया जायेगा। जिन सदस्यों ने इस तिमाही में ग्रुप में कुछ नहीं भेजा है या अपना टारगेट पूरा नहीं किया है दोषी पाए जाने पर उनकी तरफ से पार्टी ली जा सकती है। अत: इस माह के अंत तक सभी सदस्य जल्द से जल्द अपना टारगेट पूरा करें। धन्यवाद्।

aitbaar shayari images hindi For My Love

  • अगर सरकार ये नियम लागू कर दे कि एडमिन बनने के लिए 12वी में 60% जरुरी तो कसम से आधे से ज्यादा ग्रुप रद्द हो जायेंगे।
  • कुछ लोग पसंद करने लगे हैं अलफ़ाज़ मेरे,
    मतलब मोहब्बत में बर्बाद और भी हुए हैं ।

aitbaar shayari rekhta For My Love

  • dusra us bharose ko samjhe
    सपना वो नहीं है जो आप को नींद में देखे
    सपना वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे
  • Alfaaz Giraa Dete Hain Jazbaat Ki Keemat,
    Har Baat Ko Alfaaz Mein Tola Na Karo.

ऐतबार शायरी images For My Love

  • अलफ़ाज़ तो बहुत हैं
    मोहब्बत बयान करने के लिए,
    पर जो खामोशी नहीं समझ सकते
    वो अलफ़ाज़ क्या समझेगे।
  • कितना भी पकड़ लो पिसलता ज़रूर है
    ये वक़्त है साहेब बदलता ज़रूर है

amar ujala aaj ke top sher For My Love

  • हम अल्फाजो से खेलते रह गए,
    और वो दिल से खेल के चली गयी।
  • Rutba To Khamoshiyon Ka Hota Hai Mere Dost…
    Alfaaz To Badal Jaate Hain Logon Ko Dekhkar.

dosti aitbaar shayari For My Love

  • ye barishon se dosti acchi nahi saheb
    kaccha tera makaan hai kuch to khayaal kar
  • जब अलफ़ाज़ पन्नो पर शोर करने लगे,
    समझ लेना सन्नाटे बढ़ गए हैं।

You may also like