Top Collection of Ajnabi Shayari For Wife

  • Yun Nazar Ki Baat Aur Dil Chura Gaye,
    Andhero Ke Saaye Mein Dhadkan Suna Gaye,
    Hum To Samjhe The “Ajnabi” Aapko,
    Aap To Hume Apna Bana Gaye

shayari on ajnabi dost

  • अजनबी बन के हँसा करती है
    ज़िंदगी किस से वफ़ा करती है
    क्या जलाऊँ मैं मोहब्बत के चराग़
    एक आँधी सी चला करती है
  • Kabhi Wo Hum Pe Jaan Dia Karti Thi Jo Kehtay They Wo Maan Lia Karti Thi Kal Anjaan Ban Kar Paas Se Guzar Gai Woh Jo Door Se Pehchaan Lia Karte Thi
  • हमसे मत पूछो जिंदगी के बारे मे ,
    अजनबी क्या जाने अजनबी के बारे मे ….
  • साथ बिताए वो पल फिर से भूल जाते है,
    चल फिर से अजनबी होने का खेल दिखाते है
  • Us Ajnabi Ka Yun Na Intzaar Karo Is Aashiq Dil Ka Na Aitbaar Karo Roj Nikla Kare Kisi Ki Yaad Me Ansu Itna Kabhi Kisi Se Na Pyaar Karo
  • तेरा नाम था आज किसी अजनबी की जुबान पे…
    बात तो जरा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया..

ajnabi shayari facebook

  • Dil K Ghar M Basne Waly Ajnabi Nhi Hoty Hr Wakt Yad Any Waly Ajnabi Nhi Hoty Khushi Dene Waly To Apne Hoty Hen Par!Gham Deny Waly B Ajnabi Nhi Hoty..!
  • वजह पुछने का तो मौका ही कहाँ मिला?
    वो लहजे बदलते गये और हम अजनबी बनते गये..
  • Usay Yaqeen Ho Jaye Kuch Iss Ada Se Sunana Hall-E-Dil Hmara Ajnabi Woh Khud Hi Keh De Kisi Ko Tarpana Buri Baat Hai
  • सदियों बाद उस अजनबी से मुलाक़ात हुई,
    आँखों ही आँखों में चाहत की हर बात हुई,जाते हुए उसने देखा मुझे चाहत भरी निगाहों से,
    मेरी भी आँखों से आंसुओं की बरसात हुई.

ajnabi shayari hindi image

  • हम तो यूँ अपनी ज़िन्दगी से मिले
    अजनबी जैसे अजनबी से मिलेजिस तरह आप हम से मिलते हैं
    आदमी यूँ न आदमी से मिले !!!!
  • Ajnabee Mehfil Main Kisi Se Dil Na Lagana. Suna Hai Bin Bulaye Anay Waly Bin Bataye Chaly Bhi Jate Hain
  • अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी न सकूँ
    ऐसे जिद्दी हैं परिंदे के उड़ा भी न सकूँफूँक डालूँगा किसी रोज ये दिल की दुनिया
    ये तेरा खत तो नहीं है कि जला भी न सकूँ
  • Ajnabi Duniya Me Akela Khwab Hu Mei! Sawalo Se Ghira Ek Jawab Hu Mei! Jo Na Samajh Sake Unke Lie Koun? Jo Samajhe Unke Lie Ek Kitaab Hu Mei
  • महफ़िलों में फिरता रहता हूँ अजनबी सा ।
    तन्हाइयों में भी तन्हाईयाँ नसीब नहीं होती ।।
  • चेहरे अजनबी हो भी जायें तो कोई बात नहीं लेकिन,
    रवैये अजनबी हो जाये तो बड़ी तकलीफ देते हैं।

ajnabi sad shayari image

  • Jis Shakhs Ki Khatir Ujarha Khud Ko Kal Shab Ja Raha Tha Ik Ajnabi K Sath
  • इस दुनिया मेँ अजनबी रहना ही ठीक है
    लोग बहुत तकलीफ देते है अक्सर अपना बना कर
  • Wo Ajnabi Tha To Mujse Dil Lagaya Kyun? Is Gair Ko Apna Banaya Kyun ? Wo Mera Hota To Mujhe Chhod K Kyun Jata? Wo Mera Nahi Tha To Meri Zindagi Me Aya Kyun?
  • हम तो यूँ अपनी ज़िन्दगी से मिले
    अजनबी जैसे अजनबी से मिलेजिस तरह आप हम से मिलते हैं
    आदमी यूँ न आदमी से मिले !!!!
  • Dil Ke Ghar Mein Basne Wale Ajnabi Nahi Hote Har Waqt Yaad Any Waly Ajnabi Nahi Hoty Khushi Dene Waly To Apne Hoty Hen Par!Gham Deny Waly Bhi Ajnabi Nahi Hoty.

ajnabi shayari in urdu

  • कितनी अजनबी हैं ये रातें … ये दिन…
    बेगानी सी लगती हैं …. तुम बिन…
  • Kabhi Jo Hum Pe Jaan Diya Karti Thi Jo Kehte Thy Wo Maan Liya Karti Thi Kal Anjaan Ban Kr Pass Se Guzar Gyi Woh Jo Door Se Pehchan Liya Karte Thi
  • चेहरे “अजनबी” हो जाये तो कोई बात नही,
    लेकिन रवैये “अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते हैं !
  • Yun Nazar Ki Baat Aur Dil Chura Gay Andheroon Ke Saye Mein Dhadkan Suna Gaye, Hum Tu Samjhe The Ajnabi Aapko, Ap Tu Humein Apna Bana Gaye
  • हमसफ़र की तरह वो चला था मगर
    रास्ते भर रहा अजनबी अजनबी

ajnabi ho gaye shayari

  • Ek Ajnabi Se Mujhe Itna Pyar Kyun Hai Inkar Karne Pr Chahat Ka Ikrar Kyun Hai, Use Pana Nhi Meri Taqdeer Mein Shahid, Phir Har Mod Pe Usi Ka Intezar Kyun Hai.!
  • बेनाम आरजू की वजह ना पूछिए…
    कोई अजनबी था रूह का दर्द बन गया…

ajnabi shayari rekhta

  • तेरा नाम था आज किसी ✒ अजनबी की ज़ुबान पे,
    बात तो ज़रा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया.
  • Ek Ajnabi Hai Magar, Rooh Shanas Lagta Hai,
    Meri Tarha Mujhe Wo Bhi Udaas Lagta Hai,
    Karu’n Talash Toh Ho Shaq Wajood Par Usky,
    Jo Aankhein Band Karun Toh Aas Paas Lagta Hai..

ajnabi sms hindi

  • अजनबी ख्वाहिशें सीने में दबा भी न सकूँ
    ऐसे जिद्दी हैं परिंदे के उड़ा भी न सकूँफूँक डालूँगा किसी रोज ये दिल की दुनिया
    ये तेरा खत तो नहीं है कि जला भी न सकूँ
  • Tumhe Ab Bhul Hi Jae Tu Acha Hai Ye Fasle Or Bhi Badh Jae Tu Acha Hai Tumari Chahtein Hum Ko Nhi Hasil Tu Ab Gair Hi Ban Jaye Tu Acha Hai

You may also like