Arzoo Justajoo Shayari For Wife

  • कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को….

    याद वही आते है जो उड़ जाते है…!!

  • Girte rahe hum sajdo me hasrat e ishQ ki khaatir
    agar ibadat e khuda me gire hote to zindgi jannat ban jati
  • इक तू, तेरी जुस्तजू और प्यार तेरा ।
    कहीं मार न डाले दिलबर इंतज़ार तेरा ।
  • ख़ामोश सा शहर और गुफ़्तगू की आरज़ू ।

    हम किससे करें बात, कोई बोलता ही नही ।।

  • Har Yado Mai Usi Ki Yad Rehti HaiMeri Ankho Ko Usi Ki Talash Rehti HaiKuch Tum Be Dua Karo YaroDosto Ki Dua Mai Farishto Ki Faryad Hoti Hai
  • तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,
    जिसका रास्ता बहुत खराब है,
    मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा,
    दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।
  • Har Yado Mai Usi Ki Yad Rehti HaiMeri Ankho Ko Usi Ki Talash Rehti HaiKuch Tum Be Dua Karo YaroDosto Ki Dua Mai Farishto Ki Faryad Hoti Hai
  • तेरी जुस्तजू तेरी आरज़ू, मेरे दिल में दिलनशीं तू ही तू
    तेरा ही ख़याल है रात-दिन, मेरी सोच में मकीं तू ही तू
  • अब तुझसे शिकायत करना, मेरे हक मे नहीं,
    क्योंकि तू आरजू मेरी थी,पर अमानत शायद किसी और की !!
  • Duniya Me Jeene Ki Chahat Na HotiAgar Khuda Ne Mohabbat Banayi Na HotiLog Marne Ki Aarzoo Na Karte AgarMohabbat Me Bewfai Na Hoti
  • काश की मुझे मुहब्बत ना होती
    काश की मुझे तेरी आरज़ू ना होती
    जी लेते यू ही ज़िंदगी को हम तेरे बिन
    काश की ये तड़प हमे ना होती
  • Sirf Dekhke Kisi Ko Dil Ki Baat Nahi HotiMulakat Ho Phir Bhi Kabhi Barsaat Nahi HotiJanti Hoon Main Kabhi Tumhari Na Ban PaungiPhir Bhi Is Dil Mein Kabhi Raat Nahi Hoti
  • तेरा ख़याल तेरी आरजू न गयी !
    मेरे दिल से तेरी जुस्तजू न गयी !!
    इश्क में सब कुछ लुटा दिया हँसकर मैंने !
    मगर तेरे प्यार की आरजू न गयी….!!
  • ग़ज़ब है जुस्तजू-ए-दिल का ये अंजाम हो जाए
    कि मंज़िल दूर हो और रास्ते में शाम हो जाए
    ये मेरा फ़ैसला है आप मेरे हो नहीं सकते
    मैं जब जानूँ कि ये जज़्बा मिरा नाकाम हो जाए
  • Chatoon Se Dhoop To Rukti Hai Bhook Mit-Ti NahinTalash-E-Rizq Main Ghar Se Nikalna Parta Hai
  • इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
    खामोशियो की आदत हो गयी है,
    न सीकवा रहा न शिकायत किसी से,
    अगर है तो एक मोहब्बत,
    जो इन तन्हाइयों से हो गई है..!
  • Kash Koi Aisa Ahal-E-Dil Hota Jo Meri Arzu KartaKhoo Jati Agar Main Kahin, To Meri Justuju KartaMein Us Kay Zehan-o-Dil Main Kuch Is Tarah Sama JatiK Lab Jab Bhi Kholta Meri Guftugu Karta
  • आँखो की चमक पलकों की शान हो तुम..
    चेहरे की हँसी लबों की मुस्कान हो तुम…..!!
    धड़कता है दिल बस तुम्हारी आरज़ू मे…
    फिर कैसे ना कहूँ मेरी जान हो तुम..!!
  • Kyu Hame Kisiki Talash Hoti HaiKyu Dil Ko Kisiki Aas Hoti HaiChand Ko Dekho Vo B Tanha HaiFir B Uski Chandni Se Roshan Raat Hoti Hai
  • ये हवा, ये रात ये चाँदनी
    तेरी एक अदा पे निसार हैं
    मुझे क्यों ना हो तेरी आरजू
    तेरी जुस्तजू में बहार है
  • हर जज्बात को जुबान नहीं मिलती..
    हर आरजू को दुआ नहीं मिलती..
    मुस्कान बनाये रखो तो साथ है दुनिया..
    वर्ना आंसुओ को तो आंखो मे भी पनाह नहीं मिलती…
  • Fursat Kise Hai Zakhmoko SarahnekiNigahein Badal Jaati Hai Apne Begane KiTum Bhi Chhodkar Chale Gaye HumeAb Tamanna Na Rahi Naye Dost Bananeki
  • आज ..खुद को तुझमे डुबोने की आरज़ू है।
    क़यामत तक सिर्फ तेरा होने की आरज़ू है।
    किसने कहा गले से लगा ले मुझको, मग़र
    तेरी गोद में सर रखकर सोने की आरज़ू है।
  • Dosti Ke Bhi Kuch Andaaz Hote HainJagti Aankhon Mein Bhi Khawaab Hote HainZaroori Nahi Ki Gam Mein Aansu NikleinMuskurati Aankhon Mein Bhi Sailaab Hote Hain
  • कभी कभी सोचता हूँ आखिर यहाँ कौन जीत गया ….
    मेरी आरज़ू उसकी ज़िद या फिर मोहब्बत
  • Teri Khawish Us Waqt Bahut Tarpati HaiSawan Me Koi Boond Jab Bikhar Jati HaiMeri Ruh Bhi Tarapne Lagti Hai Us PalJab Thandi Hawa Teri Gali Se Guzar Kar Aati Hai
  • न तख्तो ओ ताज की आरजू
    न बज्म शाह की जुस्तजू…
    जो नजर दिल को बदल सके…
    मुझे उस निगाह की तलाश है!
  • Nahi Nigah Main Manzil Tou Jostajo He SahiNahi Wisaal Muyassar Tou Arzoo He SahiDiyaar-E-Ghair Main Mehram Agar Nahi KoiTou Faiz Zikr-E-Watan Apney Robaro He Sahi
  • थाम लेना हाथ मेरा कभी पीछे जो छूट जाऊँ
    मना लेना मुझे जो कभी तुमसे रूठ जाऊँ

    मैं पागल ही सही मगर मैं वो हूँ
    जो तेरी हर आरजू के लिये टूट जाऊँ ll

  • Ab Koi Mard-E-Qalandar Bhaij DayJurraton Ka Ho Jo Paikar Bhaij DayKufar K Hathi Rawan Hain Aaj BhiPhir Ababeelon Ka Lashkar Bhaij Day
  • ऐसा नहीं है कि अब तेरी जुस्तजू नहीं रही,

    बस टूट-टूट कर बिखरने की हिम्मत नहीं रही…


You may also like