Best Shayari For Wife

Best Short Shayari For Wife

  • इतना आसान ना था मुझे खोना,
    उसने खुद को गंवा दिया होगा..!!
  • हमीं से रंगे-गुलिस्तां, हमीं से रंगे-बहार
    हमीं को नज्मे-गुलिस्तां पर इख्तियार नहीं।

    (रंगे-.गुलिस्तां = उद्यान या बाग की शोभा ;…

Best Shayari Dosti For Wife

  • Galat Suna Tha Ki Ishq Ankhon Se Hota Hai
    Dil Toh Vo Bhi Le Jate Hai Jo Palke Tak Nahi Uthate
    कहीं ऐसा न हो मैं तुझको शर्मसार कर बैठूँ
    तू कुछ सवाल रहने दे मैं कुछ जवाब रहने दूँ
  • शुक्र है हँसी बाजार में नही बिकती
    वरना लोग गरीबो से यह भी छीन लेते

Best Shayari 2 Line For Wife

  • भले थे तो किसी ने हाल तक नहीं पूछा,
    बुरे बनते ही देखा हर तरफ अपने ही चर्चे है.
  • तू न कर ज़िक्र-ए-मोहब्बत कोई गम नहीं,
    तेरी ख़ामोशी भी सच बयाँ कर देती है।

Best Shayari On Life For Wife

  • हाल जब भी पूछो खैरियत बताते हो,
    लगता है मोहब्बत छोड़ दी तुमने।
    Haal Jab Bhi Poochho Khairiyat Bataate Ho,
    Lagta Hai Mohabbat Chhod Di Tum Ne.
  • मुझे भी ज़िन्दगी में तुम ज़रूरी मत समझ लेना,
    सुना है तुम ज़रूरी काम अक्सर भूल जाते हो…

Best Shayari Ever For Wife

  • होठों पे मुस्कान थी कंधो पे बस्ता था
    सुकून के मामले में वो जमाना सस्ता था !!
  • तेरा नाम था आज किसी अजनबी की ज़ुबान पे
    बात तो ज़रा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया

Sad Shayari For Wife

  • ऐ दिल तू समझा कर बात को,
    जिसे तू खोना नही चाहता वो तेरा होना नही चाहता।
  • पानी आंखों में हो या नदिया में…
    छुपे हुए राज दोनों में होते हैं…!!

Best Shayari In English For Wife

  • Bhool Jaunga Usi Waqt Usi Pal,
    Bus Tu Usse Mila De Jo Mujhse Jyada Chahta Hai Tujhe.
  • वो उसे होली का गुलाल लगा कर
    हमेशा के लिए बेरंग कर गया…!!!

Best Shayari Attitude For Wife

  • Phool Chahe The Magar Hath Mein Aaye Pathar,
    Humne Aghosh-e-Mohabbat Mein Sulaye Pathar.
  • मोहब्बतों के दिनों की यही ख़राबी है,
    ये रूठ जाएँ तो फिर लौटकर नहीं आते।

Hindi Shayari Collection For Wife

  • वो आएंगे लौटकर…..
    उन्हें एक बार कम से कम याद तो आने दो.
  • उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में…
    फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते…!!

Best Shayari Sms For Wife

  • दीवाना उस ने कर दिया एक बार देख कर,
    हम कर सके न कुछ भी लगातार देख कर।
  • सब्र की हद भी तो कुछ होती है…
    कितना पलकों पे सँभालूँ पानी…!!

You may also like