Bewafa Quotes For Men

dhoka shayari hindi mein For Men

  • काश वो समझते इस दिल की तड़प को
    तो हमें यूँ रुसवा ना किया जाता
    बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें
    एक बार बस हमें समझ लिया होता
  • सारे जमाने ने ठुकराया दिल मेरा,
    एक तन्हाई ही सगी निकलीं !!

dhoka shayari photo odia For Men

  • तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
    बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।
  • उन्होंने हमें आजमाकर देख लिया,
    इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया.
    क्या हुआ हम हुए जो उदास,
    उन्होंने…

dhoka shayari in hindi for friend For Men

  • ek zara si bhul huwi aur use khu baithe
    humne jise paya tha barso ibadat kar ke
  • तुझे है मशक़-ए-सितम का मलाल वैसे ही,
    हमारी जान है जान पर बबाल वैसे ही,
    चला था जिक्र जमाने की बेवफ़ाई का,
    तो आ गया है तुम्हारा ख्याल वैसे ही।

dhoka shayari dard bhari For Men

  • न पूछ मेरे सब्र की इन्तहां कहाँ तक है,
    तू सितम कर ले तेरी हसरत जहाँ तक है,
    वफ़ा की उम्मीद जिन्हें होगी उन्हें होगी,
    हमे तो देखना है तू बेवफा कहाँ तक है।
  • तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है जिसका रास्ता बहुत खराब है
    मेरे ज़ख़्म का अंदाज़ा ना लगा दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है
    काटो के बदले फूल क्या दोगे आँसू के बदले खुशी क्या दोगे
    हम चाहते है आप से उमर भर की दोस्ती हमारे इस शायरी का जवाब क्या दोगे

pyar mein dhoka shayari urdu For Men

  • रिवाज़ तो यही है दुनिया का मिल जाना बिछड़ जाना…
    तुम से ये कैसा रिश्ता है ना मिलते हो न…
  • रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को, ए दुनिया वालो,
    मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो इश्क़ का क्या गनाह।

dhoka shayari quotes For Men

  • हुनर तो बस अश्क़ों का है वक़्त की बेवफ़ाई को भी…
    रूह के पटल पर उतार देते हैं…!!
  • Jab Tak Na Lage Bewafai Ki Thhokar Dost,
    Har Kisi Ko Apni Pasand Par Naaz Hota Hai.

dhoka shayari photo dp For Men

  • हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
    औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,
    पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,
    औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया।
  • Teri Chaukhat Se Sar Uthhaau To Bewafa Kehna,
    Tere Siwa Kisi Aur Ko Chaahoon To Bewafa Kehna,
    Meri Wafaaon Pe Shaq Hai To Khanzar Uthha Lena,
    Main Shauq Se Na Mar Jaayoon To Bewafa Kehna.

dhokha shayari image For Men

  • Na Raha Kar Udaas Ai Dil,
    Kisi Bewafa Ki Yaad Mein,
    Wo Khush Hai Apni Duniya Mein,
    Tera Sab Kuchh Ujaad Kar.
  • तू छोड़ गया तो ख़ता इसमें तेरी क्या है,
    हर शख़्स मेरा साथ निभा भी नहीं सकता…

dhoka shayari in odia For Men

  • दुनियाँ को इसका चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,
    पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,
    रुसवाईयों के खौफ से महफिल में…
  • माना की तु किसी बेगम से कम नही
    but तेरी baat में तब तक dum नहीं
    जब तक तेरे बादशाह हम नहीं

dhoka shayari whatsapp status For Men

  • Uske Chehre Par Is Kadar Noor Tha,
    Ki Uski Yaad Me Rona Bhi Manjoor Tha,
    Bewafa Bhi Nahi Kah Sakte Usko ‘Faraz’,
    Pyar To Humne Kiya Hai Wo To Bekasoor Tha.
  • आज वो रोयी इस क़दर मेरे सीने से लिपट के,
    की लगा जैसे वो कभी बेवफ़ा थी ही नहीं.

pyar me dhoka shayari urdu For Men

  • जो उनकी आँखों से बयां होते है
    वो लफ्ज़ किताबो में कहाँ होते है
  • Tum bewafa

    तुम समझ लेना बेवफा मुझको, मै तुम्हे मगरूर मान लूँगा

    ये वजह अच्छी होगी , एक दूसरे को भूल जाने के लिये

     

dhoka shayari assamese For Men

  • होने वाले खुद ही अपने हो जाते हैं..
    किसी को कह कर अपना बनाया नहीं जाता….
  • लोग कहते है की पैसा बोलता है
    मगर हमने कभी पैसे को बोलते नहीं देखा
    हां कई लोगों को चुप करवाते देखा है…..!!

dhoka shayari in hindi For Men

  • हम तो खुद अपने ही, वादे नहीं निभा पाए,
    ज़िन्दगी तुझसे जो रखते, तो क्या गिला रखते !!
  • लोग हर मोड़ पे रुक-रुक के संभलते क्यों हैं
    इतना डरते हैं तो फिर घर से निकलते क्यों हैं
    मैं न जुगनू हूँ, दिया हूँ न कोई तारा हूँ
    रोशनी वाले मेरे नाम से जलते क्यों हैं
    नींद से मेरा ताअल्लुक़ ही नहीं बरसों से
    ख्वाब आ आ के मेरी छत पे टहलते क्यों हैं
    मोड़ होता है जवानी का संभलने के लिए
    और सब लोग यहीं आके फिसलते क्यों हैं

dhoka shayari download odia For Men

  • जो शिकवे थे बरसों से वो पल में खत्म हो गए,
    ये मेहरबानी थी हमपे, या नए सितम हो गए…
  • दिल की धडकनों का क्या भरोसा…
    आज बावफ़ा हैं , कल बेवफा हो जाएँगी…!!

new dhoka shayari english For Men

  • मेरी आँखों में बहने वाला ये आवारा सा आसूँ
    पूछ रहा है.. पलकों से तेरी बेवफाई की वजह..
  • दिल मजबूर हो रहा है तुम से बात करने को
    बस ज़िद ये है कि इस सिलसिले का आग़ाज़ तुम करो

You may also like