Dhoka Shayari For Men

dhoka shayari 2 lines download For Men

  • Sochta Hoon Ke Wo Kitne Masoom The,
    Jo Bewafa Ho Gaye Dekhte-Dekhte.
  • किसमत पर नाज है तो वजह तेरी रहमत है
    खुशीयाँ जो पास हैं तो वजह तेरी रहमत है
    मेरे अपने मेरे साथ हैं तो वजह तेरी रहमत है
    मैं तुझसे महोब्बत की तलब कैसे ना करूँ
    चलती जो ये सांस है तो वजह तेरी रहमत है

dhoka shayari dhokebaaz status For Men

  • वो लफ्ज कहाँ से लाऊं जो तेरे दिल को मोम कर दें,
    मेरा वजूद पिघल रहा है तेरी बेरूखी से…
  • शुक्रिया ! जो आपने समझा किसी काबिल हमें,
    बोझ समझा आपने उसपर भुला कर चल दिए !!

dhoka shayari dp For Men

  • झूट पर उस के भरोसा कर लिया…
    धूप इतनी थी कि साया कर लिया…!!
  • हद हो गई इंतजार की
    ऐसी की तेसी ऐसे प्यार की

pyar mein dhoka shayari urdu For Men

  • मुझे मालूम है हम उनके बिना जी नहीं सकते,
    उनका भी यही हाल है मगर किसी और के लिए।
  • मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
    अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।

dhoka shayari in hindi for friend For Men

  • कितने अंदाज से किया उसने नज़र अंदाज
    ए खुदा उसके इस अंदाज को नज़र ना लगे
  • कल लगी थी शहर में बद्दुआओं की महफ़िल
    मेरी बरी आई तो मैंने कहा इसे भी इश्क़ हो इसे भी…

dhoka karna shayari For Men

  • क्यों इतना गमो से वास्ता रखने लगा हू,
    खुद से ही क्यों जुदा होने लगा हुँ।
    उस अनजान कि खातिर, जान पहचान वालो से,
    रकीबो सा रिश्ता रखने लगा हुँ।
    इतना जिद्दी तो वो खुदा भी नहीं जिसने बनाया है उसे,
    क्यों उसके लिए खुदा से रूठ रहा हुँ।
    बहुत दूर है वो समझता है दिल मेरा,…
  • तेरी चौखट से सर उठाऊँ तो बेवफा कहना,
    तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,
    मेरी बफओं पे सक है तो खंजर उठा लेना,
    मै शौक से ना मर जाऊं तो बेवफा कहना।

dhoka shayari wallpaper For Men

  • अपनी अपनी सब ने कह ली, लेकिन हम चुपचाप रहे,
    दर्द पराया जिसको प्यारा, वो क्या अपनी बात कहे !!
  • ढून्ढ तो लेते तुम्हे हम,, शहर में भीड़ इतनी भी न थी,,,
    पर रोक दी तलाश हमने क्योंकि तुम खोये…

dhoka shayari english photo For Men

  • तेरे गुरूर को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ दी हमने,
    जरा हम भी तो देखे कौन चाहता है तुम्हे हमारी…
  • हम से बिछड़ के फिर किसी के भी न हो सकोगे,
    तुम मिलोगे सब से मगर हमारी ही तलाश में।
    Hum Se Bichhad Ke Fir Kisi Ke Bhi Na Ho Sakoge,
    Tum Miloge Sab Se Magar Humari Hi Talaash Mein.

dhoka shayari new For Men

  • dil chu jaye wali shayari 2 line

    चलो यूँ ही सही हम बेवफ़ा हैं,
    मगर ये तो बताएँ आप क्या हैं.

    chalo yoon hi sahi ham bewfa hain,
    magar ye to bataen aap kya hain.

  • Badi mehnat se meri duniya lutai hogi

    Badi mehnat se meri duniya lutai hogi,

    Meri mohabat ki hasti mitai hogi,

    La tere pairon mein marham laga du,

    Kyon ki …

    Mere dil ko thoker marne mein 

    tuje chhot to ai hogi….

    ….Bewafa…

odia dhoka shayari 2019 For Men

  • Bewafaon Ki Iss Duniya Me Sambhal Kar Chalna,
    Yehan Mohabbat Se Bhi Barbaad Kar Dete Hain Log.
  • तुम सादा-मिज़ाजी से मिटे फिरते हो जिस पर…
    वो शख़्स तो दुनिया में किसी का भी नहीं है…!!

dhoka shayari text message For Men

  • सिलसिले की उम्मीद थी उनसे
    वही फाँसले बढ़ाते गए
    हम तो पास आने की कोशिश में थे
    ना जाने क्यों वह हमसे दूरियाँ बढ़ाते गए
  • Majboori Mein Jab Koi Juda Hota Hai,
    Jaroori Nahi Ki Wo Bewafa Hota Hai,
    De Kar Wo Aapki Aankhon Mein Aansoo,
    Akele Mein Aapse Bhi Jyada Rota Hai.

dhoka shayari pinterest For Men

  • Meri Nigahon Mein Bahne Wale Ye Aawara Sa Ashq,
    Poochh Rahe Hai.. Palkon Se Teri Bewafai Ki Bajah.
  • मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,
    जिन्हें दावा था वफ़ा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा।

dhoka shayari odia For Men

  • वफ़ा के नाम पे तुम क्यूँ संभल के बैठ गए
    तुम्हारी बात नहीं बात हैं ज़माने की
  • Meri diary sad shayari

    Meri aajki dailry ki ki shyari hai wo ye hai ki… mujhse aina chheen le jaye koi, Main khudko nazren lagati rahti hun. शायरी की डायरी

dhoka shayari bf ke liye For Men

  • वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
    इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली।
  • unhe humne bewfa dekha

    मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा 

    जिन्हे दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा 

dhoka love shayari english For Men

  • जाने मेरी आँखों से कितने आँसू बह गए,
    इंसानो की इस भीड़ में देखो हम तनहा रह गए,
    करते थे जो कभी अपनी वफ़ा की बातें,
    आज वही सनम हमें बेवफ़ा कह गए।
  • dil chu jane wali sad shayari

    एक फूल का दर्द उसकी जुकि डाली समझते हे,
    बाग की बात बाग का माली ही समझते हे,
    ये किस तरह की रात बनाई हे दुनियावाले ने,
    दिए का दिल जलता हे और लोग रोशनी समजते हे

    ek phool ka dard usaki juki daali samajhate hai,
    baag ki baat baag ka maali hi samajhate hai,
    ye kis tarah ki raat banai he duniyaavaale ne,
    die ka dil jalata he aur log roshani samajate hai


You may also like