Dhoka Status For GF

dhoka motivational shayari For GF

  • वापस ले लो वो सारी यादे, तड़प और आंसु,
    जुर्म कोई नही हे मेरा तो फिर ये सज़ा कैसी?
  • दिल के जख्मों को दो हवा नहीं…
    दिल मे सहने की अब जगा नही…
    हाल उनका मै पूछ क्या करता…
    आज खुद का ही जब पता नही…
    खिलखिलाकर हमेसा मिलते थे…
    भूली उनकी कोइ भी अदा नही….
    भोली-भाली कोई थी एक मूरत…
    क्या खबर थी उसमें वफा नहीं…
    कैसे कह दूँ मै बेवफा उसको…
    मुझसे जब उसने कुछ कहा नही…
    प्यार करतें हैं बहुत हम उनसे…
    प्यार करना कोई भी खता नही…

dhoka shayari hindi mein For GF

  • तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
    अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।
    Tu Ne Hi Laga Diya ilzaam-e-Bewafai,
    Adalat Bhi Teri Thi Gawaah Bhi Tu Hi Thi.
  • Itni Mushkil Bhi Na Thi Raah Meri Mohabbat Ki,
    Kuchh Zamana Khilaaf Hua Kuchh Woh Bewafa Huye.

dhoka shayari for girl For GF

  • होने वाले खुद ही अपने हो जाते हैं..
    किसी को कह कर अपना बनाया नहीं जाता….
  • हसरत थी सच्चा प्यार पाने की
    मगर चल पडी आँधियां जमाने की
    मेरा गम कोई ना समझ पाया
    क्युँकी मेरी आदत थी सबको हसाने की

dhoka shayari for bf in hindi For GF

  • इस दौर में की थी जिस से वफ़ा की उम्मीद,
    आखिर को उसी के हाथ का पत्थर लगा मुझे।
  • यकीन मानिये वो फिर से आयेंगे जो आपको छोड़ गये है…
    बस उनके मतलब के दिन आने दीजिये…!!

dhoka shayari in english For GF

  • तड़प के जब मेरे इश्क़ में तू रोना चाहेगी है
    मेरी याद तो आएगी मगर ये बेवफ़ा तू मुझे न…
  • फूलों के साथ काँटे नसीब होते हैं,
    ख़ुशी के साथ ग़म भी नसीब होता है,
    यूँ तो मजबूरी ले डूबती हर आशिक को,
    वरना खुशी से बेवफ़ा कौन होता है?

dhoka shayari ladka For GF

  • हम तो जल गए तेरी मोहब्बत में मोम की तरह,
    अगर फिर भी हम बेवफा हैं तो तेरी वफ़ा को…
  • मुझे तलाश है एक रूह की जो मुझे दिल से प्यार करे
    वरना जिस्म तो पैसो से भी मिल जाया करते है.

shayari dhoka mila jab pyar mein For GF

  • फकत इंसानियत से फिर भरोसा उठ गया मेरा…
    महज़ बस एक इंसां था कभी जिसने दिया धोखा
  • गलती पर साथ छोड़ने वाले तो बहुत मिले…
    गलती पर समझा कर साथ निभाने वाले की ज़रूरत है !!

odia dhoka shayari video download For GF

  • हम मतलबी नहीं की चाहने वालो को धोखा दे
    बस हमें समझना हर किसी की बस की बात नही !!
  • उस के यूँ तर्क-ए-मोहब्बत का सबब होगा कोई,
    जी नहीं मानता कि वो बेवफ़ा पहले से था।
    Uske Yoon Tark-e-Mohabbat Ka Sabab Hoga Koi,
    Jee Nahi Manta Ki Wo Bewafa Pahle Se Tha.

dhoka shayari urdu wallpaper For GF

  • Ye Chiraag-e-Jaan Bhi Ajeeb Hai,
    Ki Jala Hua Hai Abhi Talak,
    Uski Bewafai Ki Aandhiyaan To,
    Kabhi Ki Aa Ke Gujar Gayin.
  • बदलते लोग, बदलते रिश्ते और बदलता मौसम,
    चाहे दिखाई ना दे, मगर महसूस जरूर होते हैं !!

dhoka shayari urdu 2 line For GF

  • हमने दी है जो कभी उसको खुशी की अर्ज़ी,
    पुर्जा-पुर्जा वो हवाओं में उड़ा देता है…!
  • माना की तु किसी बेगम से कम नही
    but तेरी baat में तब तक dum नहीं
    जब तक तेरे बादशाह हम नहीं

dhoka love shayari download For GF

  • रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लिपट के,
    ऐसा लगा के जैसे कभी बेवफा न थे वो।
  • मोहब्बत भी उधार कि तरह होती है…
    लोग ले तो लेते है मगर देना भूल जाते है…!!

dhoka shayari odia download For GF

  • बातों में तल्खी और लहजे में बेवफाई,
    लो ये मोहब्बत भी पहुँची अंजाम पर।
    Baaton Mein Talkhi Laheze Mein Bewafai,
    Lo Ye Mohabbat Bhi Pahunchi Anzaam Par.
  • हमारी तबियत भी न जान सके हमे बेहाल देखकर,
    और हम कुछ न बता सके उन्हें खुशहाल देखकर।

relationship dhoka shayari For GF

  • Jis kisi ko chaho

    जिस किसीको भी चाहो वोह   बेवफा  हो जाता है,
    सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
    जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,
    काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है…

  • वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
    किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
    हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
    हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।

For GF

  • तेरा नज़रिया मेरे नज़रिये से अलग था,
    शायद तुझे वक्त गुज़ारना था और मुझे जिन्दगी !!
  • एहसान मान लेना भी, मुश्किल लगा उन्हें
    एहसान मान कर भी, इक एहसान कर गए !!

dhoka shayari hindi For GF

  • कैसा वक़्त है यह, उसे फुर्सत नहीं मुझे याद करने की,
    कभी वो शख्स मेरी ही सांसों से जिया करता…
  • कुछ अलग ही करना है तो वफ़ा करो दोस्त,
    बेवफाई तो सबने की है मज़बूरी के नाम पर।
    Kuchh Alag Hi Karna Hai To Wafa Karo Dost,
    Bewafai To Sabne Ki Hai Majboori Ke Naam Par.

You may also like