Non Veg Shayari For Dearest

non veg shayari for wife For Dearest

  • इश्क इश्क का जमाने में फर्क क्या होता है
    कही इश्क की जरूरत होती है
    और कही जरूरत का इश्क होता है
    er kasz
  • औकात की बात मत कर पगली जितनी तेरे बाप की एक महीने की सैलेरी है ना
    उतनी तो मेरी नौकरानी की एक दिन की टिप है
    सैलेरी की तो बात ही छोड़

non veg sher shayari For Dearest

  • अपनी औकात मे रहकर बात कर पगली
    जितने Boys तेरी फ्रेंडलिस्ट में हैं
    उससे ज्यादा तो Girls मेरी Block list में है
  • संसार में दो तरीके के लोग हैं जो असफल होते है
    एक जो किसी की नहीं सुनते दूसरे जो हर किसी की सुनते

non veg short shayari in hindi For Dearest

  • हमारे आँखो मे वो नशा है जो किसी को भी hangover करवा दे
    इसलिए तो हम अपनी आँखो पे gogals पहनते
    G.R..s
  • सूना है आज वो छत पर सोने जा रही है खुदा खैर कर उन सितारो की
    कही उसे चाँद समझ कर जमीं पर ना उतर आये
    G.R..s

non veg shayari in hindi 2018 For Dearest

  • कुछ तो बात होगी मेरे शायरी के अल्फाज़ो में
    यूँही तो नहीं दुनियां मेरी शायरी को अपने स्टेटस लगाती है
  • अभिमान किसी को ऊपर उठने नही देता और
    स्वाभिमान किसी को निचे झुकने नही देता

non veg shayari and jokes For Dearest

  • आज वो लड़की भी मेरा status कॉपी करती है
    जो 10th में मुझे बोलती थी देख 100 में se 100
  • मेरे attitude पर मत जाना तुम्हारे समझ नही आएगा
    दिल से मत समझना वरना दिल ही निकाल जायेगा

non veg shayari on friends For Dearest

  • शाम को सज-संवर कर तुम इस तरह देखो न करो आईना
    तुम्हारी नजर जब उस पर पड़ेगी चकनाचूर हो जाएगा आईना
  • हसीन आँखों को पढ़ने का अभी तक शौक है मुझको
    मुहब्बत में उजड़ कर भी मेरी ये आदत नहीं बदली

hindi non veg shayari 2016 For Dearest

  • कितनी अजीब दुनिया हैं जहाँ औरतें दूसरी औरतों की शिकायते करते नहीं थकती
    जबकि पुरूष दूसरी औरतों की तारीफ करते नहीँ थकते पुरुष सच में महान होते हैं
  • मैं किसी से बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है
    मै किसी का बेहतर करूं बहुत फर्क पड़ता है
    Er kasz

non veg comments shayari For Dearest

  • चला लेने दे बापू facebook whatsapp पढ़ लिख कर कोनसा star बन जाना है
    नौकरी तो मिलनी नी किसी chori का yaar बन जाना है
    er kasz
  • कमाल का ताना दिया आज किसी ने मुझे
    के लिखते तो खूब हो कभी समझा भी दिया करो

non veg shayari to insult friends For Dearest

  • दिलो से खेलना हमें भी आता है
    मगर जिस खेल में दोस्तों का दिल टूट जाए
    वो खेल हमें पसंद नहीं
  • उमर लग जाती है एहसासों को अल्फ़ाज़ देने में
    फ़क़त दिल टूटने भर से कोई शायर नहीं बनता
    Er kasz

romantic non veg shayari for girlfriend For Dearest

  • कुछ तो अपने दिल को मोम करो
    इतनी भी बेरुख़ी भला किस काम की
  • मुझे ढूंढने की कोशिश न किया कर पगली
    तूने रास्ता बदला मैंने मंज़िल ही बदल दी
    er kasz

You may also like