Non Veg Shayari For Facebook Status

non veg shayari in hindi images For Facebook Status

  • संसार में दो तरीके के लोग हैं जो असफल होते है
    एक जो किसी की नहीं सुनते दूसरे जो हर किसी की सुनते
  • उनके होंठोँ से झरते हैं, हीरे और मोती…
    जो उनसे बात भी कर ले, अमीर हो जाये….!!!

non veg shayari on pakistan For Facebook Status

  • हो रही है साजिश मेरी बर्बादी की
    कर रहे बुजुर्ग बातें मेरी शादी की
  • माना की तुमारे पास हथियारोँ का काफिया होगा
    हम भी Aggarwal हैँ सीना फौलाद का रखते हैँ
    कोई गोली आर पार ना होगी
    Garg saha

non veg shero shayari in hindi For Facebook Status

  • जब वाे मुँह में क्लिप दबा कर खुले बालो का जुड़ा
    लगाती है
    कसम से
    ऐक बार ताे जिन्दगी वहीँ रूक
    जाती है..!!
  • मिला है धोखा पूरा यकीं था उनके आँसुओं ने पर पैदा किया भ्रम था
    भ्रम टूटा भी तो तब फिर जीना चाहने लगे थे जब

non veg short shayari in hindi For Facebook Status

  • मेरे attitude पर मत जाना तुम्हारे समझ नही आएगा
    दिल से मत समझना वरना दिल ही निकाल जायेगा
  • कुछ फितरत ही अपने दौडने की थी
    नहीँ तो जहाँ ठहर जाते वही मंजिल थी

non veg shayari for husband For Facebook Status

  • आज नजर भर उसे देखा तो यूँ लगा
    जैसे प्यासे ने पानी पहली बार पिया हो
  • अभी तो अच्छे लोगों का राज है दुनिया में
    जब कमिँनोँ की बारी आयेगी तो बादशाह हम होंगे

non veg shayari jokes in hindi For Facebook Status

  • जब उसने मुझसे कहा तुम्हारे दोस्त अच्छे नहीं
    तब हम थोडा मुस्कुराये ओर कहा के पगली तेरी इतनी तो औकात नहीं
    की तु मेरे दोस्तों की औकात बता सके
    दिल तुझे दीया हैं लेकिन जान आज भी दोस्तो के लिए ही है
  • ये तो अच्छा‬ है कि मेरे हर ख्वाब‬ पुरे नहीं हाेते
    वरना‬ ना जाने हर गली में कितने ताजमहल हाेते

non veg shayari app For Facebook Status

  • प्यार का तोफा हर किसी को नहीँ मिलता
    ये वो फूल है जो हर बाग मे नही खिलता
    इस फुल को कभी टूटने मत देना
    क्योकि तुटा हुआँ फुल वापीस नहीँ खिलता
  • बुरे हैं ह़म तभी तो ज़ी रहे हैं
    अच्छे होते तो द़ुनिया ज़ीने नही देती
    Er kasz

non veg shayari for wife in hindi For Facebook Status

  • कहाँ ले जाऊँ दिल दोनों जहाँ में इसकी मुश्क़िल है
    कहाँ ले जाऊँ दिल दोनों जहाँ में इसकी मुश्क़िल है
    यहाँ परियों का मजमा है वहाँ हूरों की महफ़िल है
    इलाही कैसी-कैसी सूरतें तूने बनाई हैं
    हर सूरत कलेजे से लगा लेने के क़ाबिल है
  • ग़र तुम्हे अपना कहें तो तुम्हे कोई शिकवा तो नहीं
    जमाना पूछता है बता तेरा अपना कौन है

non veg comments shayari For Facebook Status

  • सिलवटें ही सिलवटें थी बिस्तर पर सुबह
    यादों की करवटें ही करवटें थी रात भर
  • पुरानी होकर भी खास होती जा रही है
    मोहब्बत बेशरम है बेहिसाब होती जा रही है
    er kasz

valentine day non veg shayari For Facebook Status

  • सुना है आज उसकी आँखों में आंसू आ गये…
    वो बच्चों को सीखा रही थी की “मोह्हब्बत” ऐसे लिखते हैं..!!
  • मैं किसी से बेहतर करुं क्या फर्क पड़ता है
    मै किसी का बेहतर करूं बहुत फर्क पड़ता है
    Er kasz

You may also like