Aashiqui Shayari For Chingari

aashiqui shayari english For Chingari

  • gum hai yaro

    उंगलिया आज भी इस सोच में गूम है यारो

    उसने  कैसे नये हाथ को थामा होगा 

  • na wo sapne dekho jo tuth jaye
    na wo haath thamu jo ruth jaye
    mat aane do kisi ko kareeb itna
    ki uske door jane insaan ruth jaye

tere liye shayari For Chingari

  • har shaks parindo jaisa ham dard nahi hota dost
    bohut be dard baithe hai is duniya main jaal bichane wale
  • जब जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है
    मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है
    कैसे कहूँ तेरे बिना में ज़िंदा हूँ
    क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुसबु आती है

pagal aashiq shayari For Chingari

  • खामोश तुम्हारी नजरों ने एक काम गजब का कर डाला
    पहले थे हम दिल से तन्हा अब खुद से ही तन्हा कर डाला
  • जो फाँस चुभ रही है दिलों में वो तू निकाल
    जो पाँव में चुभी थी उसे हम निकाल आए

hum to aashiq hai shayari For Chingari

  • rishta kharab hone ki ek wajah ye bhi
    ke log jhukna pasand nahi karte
  • hum bewafa nahi

    इतना भी हमसे नाराज़ मत हुआ करो 

    बद किस्मत जरूर हूँ मगर बेवफा नहीं 

shayari on aashiq For Chingari

  • nadi jab kinara chhodh deti hai rah ki chattane todh deti hai
    baat choti si agar chub jaye dil main to zindagi ke rashte modh deti hai
  • achi soch shayri

    तू मत देख कोई शख्स गुनाहगार है कितना
    बस यह देख, तेरे साथ वफादार है कितना

sher o shayari on zindagi For Chingari

  • kisi ko neend aati hai magar khuwabo se nafrat karta hai
    kisi ko khuwab se piyaar hai magar wo so nahi pata
  • मुमकिन नही है हर नजर में बेगुनाह रहना
    कोशिश करें कि खुद की नजरों में #बेदाग हों

pagal aashiq shayari For Chingari

  • zindagi main ek ushul hamesha yaad rakhna
    pahechan sab se rakhna lekin bharosha sirf khud pe karna
  • अभी तो चंद लफ़्ज़ों में समेटा है तुझे
    अभी तो मेरी किताबों में तेरा सफ़र बाक़ी है

aashiqui poetry in hindi For Chingari

  • कयामत से कम नही है तेरा मेरी गली से गुजर जाना
    मुस्कराना, पीछे मुडकर देखना और निकल जाना
  • हाँ है, तो मुस्कुरा दे ना है तो नज़र फेर ले
    यूँ शरमा के आँखें झुकाने से उलझनें बढ़ रही हैं

tu aashiqui shayari photo For Chingari

  • tum dusro ke rashte ki rukawate door karte jao
    tumhari apni manzil ka rashta aasaan hota jayega
  • achi soch facebook

    जब पूछा उनसे किस बात कि तुमने ये हमको सजा दी,
    जवाब – किसी के बेटी की खातिर ही तो हमने अपनी हर खवाहिश दफना दी

    jab poochha unase kis baat ki tumane ye hamako saja di,
    javaab – kisee ke beti ki khaatir hi to hamane apani har khavaahish daphana di

aashiq mizaaj shayari For Chingari

  • कोई सस्ता सा इलाज हो तो बताना
    एक गरीब को इश्क हुआ है मँहगाई के इस दौर में
  • हम हमसफर ही नही रोनक ऐ महफिल भी है
    मुद्दतों याद ऱखोगे जिन्दगी में कोई आया था

You may also like