Aitbaar Shayari For Friends

aitbaar shayari 2 lines in urdu For Friends

  • dusra us bharose ko samjhe
    सपना वो नहीं है जो आप को नींद में देखे
    सपना वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे
  • Alfaaz Churane Ki Humein Jarurat Hi Na Padi Kabhi,
    Tere Be Hisab Khayalon Ne Be Hatasha Lafz Diye.

saudagar shayari For Friends

  • शायद इश्क अब उतर रहा है सर से,
    मुझे अलफ़ाज़ नहीं मिलते शायरी के लिए।
  • कोई भी इंसान पूरी दुनिया के लिए नहीं जीता
    बकले कुछ ख़ास लोगो के लिए जीता है
    जो इस के लिए सारी दुनिया होते है

aitbaar shayari photo For Friends

  • दोस्त वो है जो दोस्ती का हक दोस्त की गैर मोजुदगी में अदा करे
    और गैरों की महेफ़ील में उसकी इज्ज़त की हिफाज़त करे
  • सुबह का भेजा शामको वापस अपने पास आए उसे… . . . . . . . . . . Whatsapp मैसेज कहते हैं।

aitbaar shayari rekhta For Friends

  • अगर सरकार ये नियम लागू कर दे कि एडमिन बनने के लिए 12वी में 60% जरुरी तो कसम से आधे से ज्यादा ग्रुप रद्द हो जायेंगे।
  • Anmol vachan in hindi image

    एक खूबसूरत लाइन
    कम रिश्ते बनाइये*और उन्हें ❤दिल❤ से निभाइए

    ek khoobasoorat lain
    अनमोल वचन

    kam rishte banaiye*aur.unhen ❤dil❤ se nibhaie
    Anmol vachan in hindi image at poetry tadka

    उम्मीद आधी ज़िन्दगी है
    और मायूसी आधी मौत
    ummeed aadhee zindagee hai
    aur maayoosee aadhee maut
    Anmol vachan in hindi poetry tadka.

    वक़्त आपको बता देता है कि
    लोग क्या थे
    और आप क्या समझते थे
    vaqt aapako bata deta hai ki
    log kya the
    aur aap kya samajhate the

ऐतबार शायरी images For Friends

  • लड़की लड़के से: तुम Whatsapp पर हो क्या? लड़का: नहीं Sorry मैं Whatsapp पर नहीं हूँ लेकिन Whatsapp मेरे फ़ोन में है।
  • बोलना तो सब लोग जानते है
    मगर कब और किया बोलना है ये
    बोहुत कम लोग जानते है

aitbaar meaning in hindi For Friends

  • Aansoo Mere Dekh Kar Kyun Pareshan Hai Ai Dost,
    Ye To Wo Alfaaz Hain Jo Jubaan Tak Na Aa Sake.
  • अलफ़ाज़ तो बहुत हैं
    मोहब्बत बयान करने के लिए,
    पर जो खामोशी नहीं समझ सकते
    वो अलफ़ाज़ क्या समझेगे।

aitbaar shayari in punjabi For Friends

  • अब ये न पूछना के मैं अलफ़ाज़ कहाँ से लाता हूँ,
    कुछ चुराता हूँ दर्द दूसरों के कुछ अपनी सुनाता हूँ।
  • jo insaan bohut ladhne ke baad bhi aapko manane ka hunar rakhta ho
    to samjh lena ke wo aap se be inteha mohabaat karta hai

aitbaar mat karna shayari For Friends

  • सभी ग्रुप मेंबर्स को सूचित किया जाता है की ग्रुप का 2014 की पहली तिमाही (अप्रैल – जून) का ऑडिट होने वाला है। ग्रुप में कौन कौन से सदस्य एक्टिव हैं और किस सदस्य ने क्या क्या पोस्ट किया है इसका कड़ाई से आकलन किया जायेगा। जिन सदस्यों ने इस तिमाही में ग्रुप में कुछ नहीं भेजा है या अपना टारगेट पूरा नहीं किया है दोषी पाए जाने पर उनकी तरफ से पार्टी ली जा सकती है। अत: इस माह के अंत तक सभी सदस्य जल्द से जल्द अपना टारगेट पूरा करें। धन्यवाद्।
  • एक उम्र कटी दो अलफ़ाज़ में,
    एक आस में… एक काश… में।

dosti aitbaar shayari For Friends

  • Kuchh Log Pasand Karne Lage Hain Alfaaz Mere,
    Matlab Mohabbat Me Barbad Aur Bhi Huye Hain.
  • कितना भी पकड़ लो पिसलता ज़रूर है
    ये वक़्त है साहेब बदलता ज़रूर है

aitbaar shayari For Friends

  • Alfaaz Giraa Dete Hain Jazbaat Ki Keemat,
    Har Baat Ko Alfaaz Mein Tola Na Karo.
  • Sabhi Tareef Karte Hain Mere Tahreer Ki Lekin,
    Kabhi Koi Nahi Sunta Mere Alfaaz Ki Siskiyan.

You may also like