Ajnabi Shayari For Woman

ajnabi shayari in hindi ajnabi shayari hindi For Woman

  • क्या है पापी क्या है घमंडी; माँ के द्वार पर सभी शीश झुकाते हैं; मिलता है चैन तेरे दर पे मैया; झोली भर के सभी यहाँ से जाते हैं। हैप्पी नवरात्रि!
  • Na Mile Zindgi Me Kabhi Bhi Dard Usko,
    Chahe Uski Kismat Me Meri Jaan Likh De !

shayari on ajnabi in hindi For Woman

  • सजा द्वार है और एक ज्योति जगमगाई है; नसीब जागेगा उन जागरण कराने वालों का; नसीब जागेगा जागरण में आने वालों का; वो देखो मंदिर में मेरी माँ मुस्कुराई है। शुभ नवरात्रि!
  • चंद्र हासोज्ज वलकरा शार्दू लवर वाहना। कात्यायनी शुभं दद्या देवी दानव घातिनि।। जय कात्यायनी देवी! शुभ नवरात्रि!

ajnabee shayari in hindi For Woman

  • माँ दुर्गा आपको अपनी 9 भुजाओं से 1. बल 2. बुद्धि 3. ऐश्वर्या 4. सुख 5. स्वास्थ्य 6. दौलत 7. अभिजीत 8. निर्भीकता 9. सम्पनता प्रदान करे। जय माता दी। नवरात्रि की शुभ कामनायें!
  • Na Mile Zindgi Me Kabhi Bhi Dard Usko,
    Chahe Uski Kismat Me Meri Jaan Likh De !

ajnabi dosti shayari ajnabi dost shayari For Woman

  • राम जी की महिमा; सीता जी का धैर्य; लछमण जी के तेवर और; भरत जी का त्याग; यह हम सबको जीवन की सीख देतें रहें! शुभ चैत्र नवरात्रि!
  • जगत पालन हार है माँ; मुक्ति का धाम है माँ; हमारी भक्ति का आधार है माँ; हम सब की रक्षा की अवतार है माँ। नवरात्रि की शुभकामनाएं!

atul ajnabi shayari For Woman

  • Har Ek Pahlu Tera Mere Dil Me Abaad Ho Jaye,
    Tujhe Main Is Kadar Dekhu Mujhe Tu Yaad Ho Jaye!
  • हमको था इंतज़ार वो घड़ी आ गई; होकर सिंह पर सवार माता रानी आ गई; होगी अब मन की हर मुराद पूरी; हरने सारे दुख माता अपने द्वार आ गई। नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!

ajnabi par shayari For Woman

  • लाल रंग की चुनरी से सजा माँ का दरबार; खुशियों से झूम उठा है देखो ये संसार; नन्हें नन्हें क़दमों से माँ आये आपके द्वार; मुबारक हो आपको नवरात्रि का त्योहार। शुभ नवरात्रि!
  • सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥ जय स्कंदमाता! शुभ नवरात्रि!

shayari on ajnabi in hindi For Woman

  • Chalte Chalte Mere Kadam
    Hamesha Yehi Sochate Hain,
    Ki Kis Or Jaaun To Tu Mil Jaye!
  • ताज्जुब न कीजियेगा गर कोई दुश्मन भी आपकी खेरियत पूछ जाये
    ये वो दौर है जहाँ हर मुलाक़ात में मकसद छुपे होते हें

ajnabi shayari in urdu For Woman

  • जब से तेरे दर पे आया माँ तुमने मेरे भाग्य को फेरा; चाहे तू अपना मान ना मान पर मैं तेरा हूँ तेरा। जय माता दी! शुभ नवरात्रि!
  • शैलपुत्री ब्रह्मचारिणी चंद्रघण्टा कुष्मांडा कात्यायनी कालरात्रि महारात्रि सिद्धिदात्री माँ के ये नौ रूप आपकी मनोकामनाएं पूरी करें। जय माँ कुष्मांडा! नवरात्रि की शुभकामनाएं!

ajnabi shayari urdu sms For Woman

  • नवरात्रि के इस पावन पर्व पर माँ नैना देवी आपके नैनो की रक्षा करे माँ चिंतपूर्णी आपकी सभी चिंता दूर करे माँ कामना देवी आपकी सभी मनोकामना पूरी करे। शुभ नवरात्रि!
  • एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता लम्बोष्टी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी। वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी॥ जय कालरात्रि माँ! शुभ नवरात्रि!

ajnabi shayari For Woman

  • खुशियों और आपका जन्म-जन्म का साथ हो; हर किसी की जुबान पर आपकी हँसी की ही बात हो; जीवन में कोई मुसीबत आए भी तो आपके सिर पर माँ दुर्गा का हाथ हो। नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं!
  • शेर पर सवार होकर; खुशियों का वरदान लेकर; हर घर में विराजी अंबे माँ; हम सबकी जगदंबे माँ। शुभ नवरात्रि!

You may also like