Bewafa Quotes For Wife

dhoka shayari gujarati For Wife

  • बुजदिल हें वो लोग जो मोहब्बत नहीं करते,
    बहुत हौसला चाहिए बर्बाद होने के लिए ।
  • मिल जाए उलझनो से फुरसत तो जरा सोचना,
    क्या सिर्फ फुरसतों मे याद करने तक का रिश्ता है हमसे…..!!!

dhoka shayari download odia For Wife

  • इतनी मुश्किल भी न थी राह मेरी मोहब्बत की,
    कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हुए।
  • झूट पर उस के भरोसा कर लिया…
    धूप इतनी थी कि साया कर लिया…!!

dhoka shayari urdu 2 line For Wife

  • रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,
    ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो।
    Roye Kuchh Iss Tarah Se Mere Jism Se Lag Ke Wo,
    Aisa Laga Ke Jaise Kabhi Bewafa Na The Wo,
  • अब देखिये तो किस की जान जाती है,
    मैंने उसकी और उसने मेरी कसम खायी है।

dhoka shayari boyfriend For Wife

  • तीन प्यार भरे मैसेज… 1. 2.. 3… कुछ नज़र आया? नहीं ना? वो इसीलिए क्योंकि प्यार नज़र नहीं आता सिर्फ महसूस किया जाता है।
  • भरे बाजार में हर एक लड़की Jalegi
    जब अपनी वाली अपने साथ Chalegi

dhoka shayari urdu images For Wife

  • कही मिले तो उसे यह कहना गए दिनों को भुला रहा हू
    वह अपने वादे से फिर गया है मैं अपने वादे निभा रहा हूँ
  • तुम पत्थर भी मारोगे तो भर लेंगे झोली अपनी,
    क्योंकि हम गद्दार यारों के भी तोहफ़े ठुकराया नहीं करते !!

dhoka shayari mp3 download For Wife

  • किसी इंसान का पहला प्यार बनना कोई बड़ी बात नहीं; बनना है तो किसी का आखिरी प्यार बनो; इसलिए यह मत सोचो कि तुमसे पहले वह किसी का प्यार था; कोशिश करो कि तुम्हारे बाद उसे किसी के प्यार की आवश्यकता ही न पड़े!
  • हमारे लिए उनके दिल में चाहत ना थी
    किसी ख़ुशी में कोई दावत ना थी
    हमने दिल उनके कदमों में रख दिया
    पर उन्हें ज़मीन देखने की आदत ना थी

dhoka shayari download For Wife

  • चाहे काजल लगा लो या सूरमा लगा लो
    फरेब दिल में हो तो आंखों में उतर ही आएगा
  • इंसान के कंधो पर इंसान जा रहा था,
    कफ़न में लिपटा हुआ अरमान जा रहा था,
    जिसे भी मिली बेवफाई मोहब्बत में,
    वफ़ा कि तलास में शमसान जा रहा था।

dhoka shayari boy image For Wife

  • हसरत थी सच्चा प्यार पाने की
    मगर चल पडी आँधियां जमाने की
    मेरा गम कोई ना समझ पाया
    क्युँकी मेरी आदत थी सबको हसाने की
  • हम तो खुद अपने ही, वादे नहीं निभा पाए,
    ज़िन्दगी तुझसे जो रखते, तो क्या गिला रखते !!

dhoka shayari pyar mein For Wife

  • मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ,
    मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ,
    पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ,
    क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ! ? ? ?
  • नसीब बन कर कोई ज़िन्दगी में आता है,
    फिर ख्वाब बन कर आँखों में समा जाता है,
    यकीन दिलाता है कि वो हमारा ही है,
    फिर ना जाने क्यों वक़्त के साथ बदल जाता है। 

dhoka shayari video download For Wife

  • दुनिया में मेरा नाम बहुत दूर तक गया,
    हाँ, तूने मेरा नाम उछाला तो क्या हुआ !!
  • janta tha wo dhoka

    जानता था की वो धोखा देगी एक दिन पर चुप रहा क्यूंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ पर उसके बिना नहीं 

dhoka shayari english dp For Wife

  • Meri Nigahon Mein Bahne Wale Ye Aawara Sa Ashq,
    Poochh Rahe Hai.. Palkon Se Teri Bewafai Ki Bajah.
  • चाँद ने की होगी सूरज से महोब्बत इसलिए तो चाँद मैं दाग है
    मुमकिन है चाँद से हुई होगी बेवफ़ाई इसलिए तो सूरज मैं आग है

dhoka shayari new 2019 For Wife

  • Uske Chehre Par Is Kadar Noor Tha,
    Ki Uski Yaad Me Rona Bhi Manjur Tha,
    Bevafa Bhi Nahin Kah Sakte Usko Faraj,
    Pyar To Hamne Kiya Hai Vo To Bekasur Tha!
  • bewafa hum hi sahi khud pe bhi kuch gurur kro
    be rukhi aap ki hud se zayda to nahi
    जहाँ पर नफरतों के खुरदरे दस्तूर होते हैं
    वहाँ पर प्यार के किस्से बहुत मशहूर होते है
    ये रिश्तों के उजालों में चमकते और बुझते हैं
    कहीं ये अश्क होते हैं कहीं सिन्दूर होते हैं

dhoka love shayari image For Wife

  • ढून्ढ तो लेते तुम्हे हम,, शहर में भीड़ इतनी भी न थी,,,
    पर रोक दी तलाश हमने क्योंकि तुम खोये…
  • मेरा हर लम्हा चुराया आपने; आँखों को एक ख्वाब देखाया आपने; हमें ज़िन्दगी दी किसी और ने; पर प्यार में जीना सिखाया आपने!

dhoka shayari in hindi For Wife

  • कैसा वक़्त है यह, उसे फुर्सत नहीं मुझे याद करने की,
    कभी वो शख्स मेरी ही सांसों से जिया करता…
  • हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है,
    हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है,
    तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग,
    हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।

dhoka ke upar shayari For Wife

  • सूरज आग उगलता है सहना धरती को पड़ता है
    मोह्हबत निगाहे कराती है सहेना दिल को पड़ता है
  • पूछ रही है आज मेरी शायरियाँ मुझसे कि,
    कहा उड़ गये वो परिंदे जो वाह वाह किया करते थे !!

You may also like