Dooriyan SMS For Hubby

phone call waiting shayari in hindi For Hubby

  • दब गई थी नींद, कहीं करवटों के बीच,
    दर पर खड़े रहे, कुछ ख्वाब रात भर…!
  • दूर पानी पर तैरती वो लाश देखिए,
    और सोंचिये डूबना भी कितना मुहाल है।

dooriyan shayari images For Hubby

  • ग़ुर्बत की ठंडी छाँव में याद आई उस की धूप
    क़द्र-ए-वतन हुई हमें तर्क-ए-वतन के बाद
  • चाँदनी, जाम, कली, ख्वाब, घटा सब कुछ है,
    मेरी किस्मत में मोहब्बत के सिवा सब कुछ है।
    Chandni, Jaam, Kali, Khwab Ghata Sab Kuchh Hai,
    Meri Kismat Mein Mohabbat Ke Siwa Sab Kuchh Hai.

For Hubby

  • झसे मिलने की ख्वाहिस मे ये दिन गुजर जाते है,
    मगर ये रात नही कटती तेरे यादो के सहारे……
  • ज़िन्दगी किश्तों मे जी कर क्या करोगे..
    रिश्तों में जी कर देखो, इसका मजा ही कुछ अलग है

phone call waiting shayari in hindi For Hubby

  • कब से बैठे हैं तन्हाई में रंग अश्क़ो में घोले हुए
    आपकी याद आई नही हमनें होली मनाई नही…!!
  • उस आंखो से पानी की एक बुंद ना गिए सकी,
    तमाम उम्र जिसे मै झिल लिखता रहा ॥

doorie quotes in hindi For Hubby

  • फांसला रख के भी क्या हासिल हुआ,
    आज भी मैं उसका ही कहलाता हूँ।
  • कुछ लोग तो बस इसलिए ‘अपने’ बने हैं अभी,
    कि कभी मेरी बर्बादियां हों तो दीदार ‘करीब’ से हो !!

dooriyan shayari urdu For Hubby

  • एक और शाम हो गयी, एक और दिन ढल गया,
    इस ज़िन्दगी की किताब से एक और पन्ना निकल गया…!
  • तबायफ ..ने अपनी आत्मकथा लिखने की क्या सोची ……
    कि शहर के सारे शरीफो ने आत्महत्या कर ली

dooriyan shayari For Hubby

  • रोज़ तारों को नुमाइश में खलल पड़ता है,
    चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है,
    रोज़ पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं,
    रोज़ शीशों से कोई काम निकल पड़ता है।
    Roz Taaron Ki Numaaish Mein Khalal Padta Hai,
    Chaand Pagal Hai Andhere Mein Nikal Padta Hai,
    Roz Patthar Ki Himayat Mein Ghazal Likhte Hain,
    Roz Sheeshon Se Koi Kaam Nikal Padta Hai.
  • कल किसी ने मुस्कुराते हुए मुझसे मेरी उम्र पूछी…
    मैंने हंसते हुए कहा जितनी गुज़री लौटा दोगे क्या…!!

dosti dooriyan shayari For Hubby

  • होती है ख़बर उसे मेरी
    होती है खबर मुझे उसकी
    हम दोनों बेख़बर
    एक दूसरे की हर ख़बर रखते हैं…!
  • गुफ्तगू उनसे होती यह किस्मत कहाँ..
    ये भी उनका करम है कि वो नज़र तो आये।

dooriyan nazdikiyan shayari For Hubby

  • आलमारी मैं बंद रखा जाता है कभी पहना नहीं जाता
    हाल अपना भी अब बेवा के जेवर जैंसा हो गया…
  • मैं भी उसे खोने का हुनर सीख न पाया…
    उसको भी मुझे छोड़ के जाना नहीं आता…

dooriyan shayari rekhta For Hubby

  • मेरे अल्फ़ाज ही है मेरे दर्द का मरहम…
    गर मैं शायर ना होता तो पागल होता…!
  • zara si galti par na chhodo kisi apno ka saath
    Q ki zindagi beet jaati hai kisi ko apna banane main

pyar ki duriya For Hubby

  • सादगी ही कत्ल करती है मेरा
    क्या होगा जब संवर कर आयेगे
  • अब तो अपनी परछाईं भी ये कहने लगी है ,
    मैं तेरा साथ दूँगी सिर्फ उजालों में !!

dooriyan shayari english For Hubby

  • अजीब शर्त रख दी रहबर ने मिलने की
    सूखे पत्तों पर चल कर आना और आवाज़ भी न हो ..
  • तू वो ज़ालिम है जो दिल में रह कर भी मेरा न बन सका
    और दिल वो काफिर जो मुझमे…

najdikiya shayari in hindi For Hubby

  • वो सलीके से हुआ हम से गुनाह वरना,
    लोग तो साफ मोहब्बत से मुकरते देखे,
    वक्त होता है हर एक ज़ख्म का मरहम,
    फिर भी कुछ जख्म थे जो न भरते देखे।
  • किसी को मेरे बारे में पता कुछ भी नही…
    इल्जाम हजारो है और खता कुछ भी नही…!!

dooriyan shayari in english For Hubby

  • Meri Har Shayari Mere Dard Ko Karegi Banya Ai Gam,
    Tumhari Aankh Na Bhar Jayen, Kahin Padhte Padhte.
  • Har Dard Ko Dafan Kar Gehrayi Me Kahin,
    Do Pal Ke Liye Sab Kuchh Bhulaya Jaaye,
    Rone Ke Liye Ghar Me Kone Bahut Se Hain,
    Aaj Mehfil Me Chalo Sabko Hansaya Jaaye.

najdikiya shayari in hindi For Hubby

  • लौट आता मैं वापस तेरे पास मगर क्या फायदा,
    ना तेरे दिल में मेरे लिए मोहब्बत रही ना मेरी जरुरत…
  • जब लोग पूछते है मेरे प्यार की दास्तान,
    मैं कह देता हूँ कि एक अफसाना था जो खत्म हो गया

Deal of The Day


You may also like