Dosti Shayari For Hubby

for dosti shayari For Hubby

  • हम इतने स्वीट नहीं कि मधुमेह (Diabetic) हो जाए; ना इतने नमकीन हैं कि ब्लड प्रेसर बढ़ जाए; और ना इतने स्वादी हैं कि मज़ा आ जाए; पर इतने कड़वे भी नहीं कि याद ना आयें।
  • दोस्ती कब किस से हो जाए अंदाज़ा नहीं होता…
    दोस्ती एक ऐसा घर है जिस का कोई दरवाज़ा नहीं होता…!!

dosti shayari matlabi For Hubby

  • दिल इश्क से बंधा हुआ एक जिद्दी परिंदा है…,
    मेरे दोस्त उम्मीदों से ही घायल है…उम्मीदों पर ही जिंदा है…!
  • लम्हों का हिसाब रखते हो; जिंदगी की हसीं किताब रखते हो; फुर्सत मिले तो लिखना कभी; क्या मुझे दिल से याद करते हो।

dosti shayari hindi video download For Hubby

  • सिर्फ महसूस किये जाते हैं,
    एहसास दोस्ती के कभी लिखे नहीं जाते…!
  • गलतफहमी से बढ़कर दोस्ती का दुश्मन नहीं कोई…
    परिंदों को उड़ाना हो तो बस शाख़ें हिला दीजिए…!!

dosti shayari youtube For Hubby

  • “इश्क” का धंधा ही बंद कर दिया साहेब।….
    मुनाफे में “जेब” जले.. और घाटे में “दिल”
  • लाख बंदिशे लगा ले दुनिया हम पर,
    मगर हम दिल पर काबू नहीं कर पाएंगे,
    वो लम्हा आखिरी होगा ज़िन्दगी का हमारा,
    जिस दिन हम यार तुझ को भूल जायेंगे।

dard bhari dosti shayari For Hubby

  • रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी,
    दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी,
    जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा,
    उसे ज़िन्दगी से शिकायत क्या होगी।
  • करनी है खुदा से गुजारिश तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले
    हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा…

dosti shayari for best friend For Hubby

  • जान की बाज़ी लगा दी जुवारी बनकर,
    दिल हतेली पर ले आये पुजारी बनकर,
    जिस वक़्त दुआ क दरवाज़े खुलेंगे…
    ए दोस्त मांग लेंगे तुझे खुदा से भिखारी बनकर.
    Jaan ki baazi laga di juwari bankar,
    Dil hateli par le aye pujari bankar,
    Jis waqt dua k darwaaze khulenge..
    A dost maang lenge tujhe khuda se bhikari bankar.
  • दोस्त समझते हो तो दोस्ती निभाते रहना,
    हमें भी याद करना खुद भी याद आते रहना,
    हमारी तो हर ख़ुशी…

dosti shayari yourquote For Hubby

  • ज़ख्म मोहब्बत में हमने खाए हैं; चिराग उनकी राहों में जलाए हैं; हर होंठ पर हैं वो गीत मेरे; जो उनकी याद में हमने गाए हैं।
  • नोटों से भरी जेब ने खोटों से खूब करवायी दोस्ती
    जिंदगी फिर से मेरे वो चार आने वाले याराने ला…

dosti shayari good morning For Hubby

  • एक दिन हमारे आंसुओ ने हमसे पूछा हमें रोज़ रोज़ क्यों बुलाते हो? हम ने कहा हम नाम-ऐ-हुसैन लेते हैं तुम तो खुद ही चले आते हो!
  • हम तुमसे दूर कैसे रह पाते; दिल से तुमको कैसे भूल पाते; काश तुम आईने में बसे होते; ख़ुद को देखते तो तुम नज़र आते!

dosti shayari caption For Hubby

  • चाँद की जुदाई में आसमान भी तड़प गया; उसकी झलक पाने को हर सितारा तरस गया; बादल का दर्द क्या कहूं; चाँद की याद में वो तो हँसते-हँसते बरस गया।
  • दोस्ती किस से न थी किस से मुझे प्यार न था,
    जब बुरे वक़्त पे देखा तो कोई यार न…

dosti shayari wallpaper download For Hubby

  • अगर फुर्सत के लम्हों में मुझे याद करते हो तो मुझे याद मत करना; मैं तनहा ज़रूर हूँ मगर फ़जूल नहीं।
  • लोग बेवजह ढूँढते हैँ खुदखुशी के तरीके हजार;
    .
    इश्क करके क्यों नहीँ देख लेते वो एक बार।

You may also like