Dosti Shayari For Women

100 dosti shayari For Women

  • हज़ारो मैं मुझे सिर्फ़ एक वो शख्स चाहिये
    ,,
    .
    जो मेरी ग़ैर मौजूदगी मैं, मेरी बुराई ना सुन
    सके ll
  • दुश्मन बने दुनिया तो इतना याद रखना मेरे दोस्त..
    तेरा यार जिन्दा है तो तेरा हथियार जिन्दा है…

dosti shayari urdu sms For Women

  • Dosti Ka Farz Hum Yun Adaa Karte Hain,
    Dost Ke Naam Par Jaan Fida Karte Hain,
    Tumhe Phool Ka Zakhm Bhi Na Aane Paye,
    Allah Se Roj Bas Ye Hi Dua Karte Hain.
  • तन्हाई सी थी दुनिया की भीड़ में,
    सोचा कोई अपना नहीं तकदीर में,
    एक दिन जब दोस्ती की आपसे तो यूँ लगा,
    कुछ ख़ास था मेरे हाथ की लकीर में।

dosti shayari whatsapp status For Women

  • हाथ क्या मिलाया कुछ दोस्तों से,
    कमबख्त, दुःख की सारी लकीरें मिटा गए…:::!!!
  • समझा दो अपनी यादों को; वो बिना बुलाये पास आया करती हैं; आप तो दूर रहकर सताते हो मगर; वो पास आकर रुलाया करती हैं।

dosti shayari and wallpaper For Women

  • फूल खुशबु के लिए; प्यार निभाने के लिए; आँखें दिल चुराने के लिए; और यह मेरा मैसेज आपको; मेरी याद दिलाने के लिए।
  • करूँ क्यों फ़िक्र मौत के बाद जगह कहाँ मिलेगी
    जहाँ होगी दोस्तों की महफिलें, मेरी रूह वहाँ मिलेगी

dosti shayari top 10 For Women

  • सालो साल बातचीत से उतना सुकून नही मिलता
    जितना एक बार महबूब के गले लग कर मिलता है
  • मिलना बिछड़ना सब किस्मत का खेल है
    कभी नफरत तो कभी दिलों का मेल है
    बिक जाता है हर रिश्ता इस ज़माने में
    सिर्फ दोस्ती ही नहीं बिकती इस ज़माने में

dosti shayari with good morning For Women

  • गुमान था कि कोई दुश्मन जान नही ले सकता..
    दोस्त के वार का तो ख्याल तक न था..
  • दिल की ख्वाहिश को नाम क्या दूँ; प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ; इस दिल में दर्द नहीं यादें हैं उसकी; अब यादें ही मुझे दर्द दें तो उसे इलज़ाम क्या दूँ।

dosti shayari tik tok video download For Women

  • तु कितनी भी खुबसुरत क्यूँ ना हो एे ज़िंदगी..
    खुशमिजाज़ दोस्तों के बगैर अच्छी नहीं लगती..!!
  • Jo Dil Ko Achchha Lagta Hai Usi Ko Dost Kahta Hoon,
    Munafa Dekhkar Main… Rishton Ki Siyasat Nahin Karta.

zabardast dosti shayari For Women

  • सच्चे मित्र की मात्र पहचान इतनी है
    भटकाव चाहे जितना भी पर मंज़िल गुमनाम नहीं होती ।
  • मैं बोझ बन जाऊ़गा एक दिन अपने ही दोस्तों पर,
    कांधे वदल रहे होंगे वो.. हर दो क़दम के बाद..!!

dosti shayari marathi For Women

  • लम्हों की यादें संभाल के रखना; हम याद तो आयेंगे ही लेकिन – लौटकर नहीं।
  • जिसको बसना है ज़न्नत में वो बेशक़ जाकर बसे…..
    अपना तो आशियाना भाईयों के दिल में है….

dosti shayari chahie For Women

  • काश एक तारा टूट जाए आज.
    .
    मुझे मौत मांगनी है…”.
  • अजब रिवाज है जमाने का दोस्तों…
    दिल लगाओ तो दिमाग परेशान होता है…!!

You may also like