Ajnabi Shayari For Fiance

ajnabi se dosti shayari For Fiance

  • नवरात्री के इस पावन पर्व पर माँ नैना देवी आपके नैनों की रक्षा करें; माँ चिंतपूर्णी आपके सभी चिंताएं दूर करें; और माँ कामना देवी आपकी सभी मनोकामनाओं को पूरा करें! शुभ नवरात्री!
  • या देवी सर्वभूतेषु प्रकृति रूपेण संस्थिता नमस्तस्वै नमस्तस्वै नमस्तस्वै नमो नम: ! जय माँ ब्रह्मचारिणी! नवरात्रि की शुभकामनाएं!

shayari on ajnabi dost For Fiance

  • क्या है पापी क्या है घमंडी; माँ के द्वार पर सभी शीश झुकाते हैं; मिलता है चैन तेरे दर पे मैया; झोली भर के सभी यहाँ से जाते हैं। हैप्पी नवरात्रि!
  • जितने भी हैं जहां पे उन्हीं के लाल हैं सारे; उनके इशारों पे चलते हैं ये चाँद और तारे; पल भर के लिए ही सही माँ को याद कीजिए; होगी पूरी तम्मना जरा फ़रियाद कीजिए। नवरात्रि की शुभकामनाएं!

ajnabi se pyar shayari For Fiance

  • सारा जहां है जिसकी शरण में; नमन है उस माँ के चरण में; हम है उस माँ के चरणों की धूल; आओ मिलकर माँ को चढ़ाएं श्रद्धा के फूल। शुभ नवरात्रि।
  • Taqdeer Likhne Wale Ek Ahasan Likh De,
    Meri Mohabbat Ki Taqdeer Me Muskan Likh De,

ajnabi shayari in urdu For Fiance

  • माँ की ज्योति से प्रेम मिलता है; सबके दिलों को मर्म मिलता है; जो भी जाता है माँ के द्वार; उसे सुकून जरूर मिलता है! शुभ नवरात्रि!
  • राम जी की महिमा; सीता जी का धैर्य; लछमण जी के तेवर और; भरत जी का त्याग; यह हम सबको जीवन की सीख देतें रहें! शुभ चैत्र नवरात्रि!

ajnabi sad shayari For Fiance

  • ताज्जुब न कीजियेगा गर कोई दुश्मन भी आपकी खेरियत पूछ जाये
    ये वो दौर है जहाँ हर मुलाक़ात में मकसद छुपे होते हें
  • सिंहासनगता नित्यं पद्माश्रितकरद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कन्दमाता यशस्विनी॥ जय स्कंदमाता! शुभ नवरात्रि!

atul ajnabi shayari For Fiance

  • माँ दुर्गे माँ अम्बे माँ जगदम्बे माँ भवानी माँ शीतला माँ वैष्णों माँ चंडी नवरात्रि के शुभ अफसर पर माता रानी मेरी ओर से आप सभी की मनोकामना पूरी करे। जय माता दी।
  • प्यार का तराना उपहार हो खुशियों का नज़राना बेशुमार हो; ना रहे कोई ग़म का एहसास; ऐसा नवरात्रि इस साल हो। नवरात्रि की शुभकामनाएं!

ajnabi shayari in hindi font For Fiance

  • नवरात्रि के वक़्त घर पर चिकन खा सकते हैं क्योंकि घर की मुर्गी दाल बराबर होती है। शुभ नवरात्रि!
  • जब से तेरे दर पे आया माँ तुमने मेरे भाग्य को फेरा; चाहे तू अपना मान ना मान पर मैं तेरा हूँ तेरा। जय माता दी! शुभ नवरात्रि!

ajnabi dost ki shayari For Fiance

  • शेर पर सवार होकर; खुशियों का वरदान लेकर; हर घर में विराजी अंबे माँ; हम सबकी जगदंबे माँ। शुभ नवरात्रि!
  • प्यार का तराना उपहार हो; खुशिओं का नजराना बेशुमार हो; ना रहे कोई गम का एहसास; ऐसा ही नवरात्रि उत्सव इस साल हो; शुभ नवरात्रि!

ajnabi shayari urdu For Fiance

  • Taqdeer Likhne Wale Ek Ahasan Likh De,
    Meri Mohabbat Ki Taqdeer Me Muskan Likh De,
  • चाँद की चाँदनी बसंत की बहार; फूलों की खुशबु अपनों का प्यार; मुबारक हो आपको नवरात्रि का त्योंहार; सदा खुश रहें आप और आपका परिवार। हैप्पी नवरात्रि!

ajnabi shayari in urdu For Fiance

  • एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता लम्बोष्टी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी। वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा वर्धनमूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयङ्करी॥ जय कालरात्रि माँ! शुभ नवरात्रि!
  • Na Bhookh Hai Mujhe Na Daulat Ki Pyaas Baki Hai,
    Milti Rahe Har Kisi Se Mohabbat Ye Hi Kaafi Hai.

You may also like